सूजन अपने आपमें कोई बीमारी नहीं है, लेकिन ये शरीर में किसी असामान्यता या बीमारी का संकेत अवश्य करती है. सूजन की शिकायत होने पर आप ये घरेलू उपचारों को अपना कर सूजन से निजात पा सकते हैं, लेकिन अगर लंबे समय तक सूजन की समस्या बनी रहे, तो लापरवाही न बरतें| बल्कि फौरन डॉक्टरी सलाह लें और सूजन के सही कारण का पता लगाकर इलाज कराएं|

क्यों होती है सूजन?

सूजन की समस्या दिल से जुड़ी बीमारियों, हार्मोनल इम्बैलेंस, किडनी प्रॉब्लम, और स्टेरॉयडयुक्त दवाओं के सेवन की वजह से हो सकती है|
क्यूकी इन सभी स्थितियों में हमारी किडनी सोडियम को इकट्ठा करने लगती है जो सूजन की समस्या के रूप मे हमारे सामने आती है|
हालांकि कुछ महिलाओं में पीरियड्स के एक सप्ताह पहले भी सूजन की प्रॉब्लम देखी जाती है. इस दौरान शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन की मात्रा बढ़ जाती है, जिसकी वजह से वॉटर रिटेंशन होने लगता है और सूजन हो जाती है|इसके अलावा अनियमित लाइफस्टाइल और खानपान संबंधी गड़बड़ी भी सूजन की वजह में से एक हो सकती है| सूजन के लिए आप आज़माएं ये घरेलू नुस्ख़े-

एक ग्लास गर्म दूध में हल्दी और मिश्री मिलाकर पीने से २-३ दिन में सूजन कम हो जाती है| अगर अक्सर सूजन की समस्या रहती है, तो लगातार 6 महीने तक रोज़ाना हल्दीवाला दूध पीएं|

तुलसी की पत्तियों का काढ़ा बनाकर पीना भी सूजन दूर करने का असरदार उपाय है|

गुड़हल के फूल को पीसकर लेप लगाने से भी सूजन दूर होती है|

गर्म पानी से भरे एक टब में आधा कप सेंधा नमक मिलाकर 10-15 मिनट तक इस पानी पैरों को डुबोकर रखने से पैरों की सूजन कम हो जाएगी|

एक ग्लास पानी में तीन चम्मच साबुत धनिया डालकर उबालें| इस पानी का सेवन करने से भी सूजन से राहत मिलती है|

जौ का पानी पीने से वॉटर रिटेंशन से छुटकारा मिलता है और सूजन कम हो जाती है| 1 लीटर पानी में एक कप जौ उबाल लें और ठंडा करके दिनभर थोड़ा-थोड़ा पी सकते है|

350 ग्राम सरसों के तेल में 120 ग्राम लाल मिर्च पाउडर मिलाकर इसे आंच पर गर्म करें| फिर उबलने पर इसे छान लें और सूजन वाली जगह पर इसका लेप लगाएं| ऐसा करने से सूजन ठीक हो जाएगी|

सरसों के तेल में लहसुन की कलियां मिलाकर अच्छी तरह गर्म कर लें| इस तेल से सूजन वाली जगह पर मालिश करें|

कब जाएं डॉक्टर के पास?

वैसे तो किसी भी तकलीफ़ को छोटा समझकर घर बैठना कोई समझदारी नहीं है, इसलिए डॉक्टर से कंसल्ट करे यदि निम्न मे से कोई समस्या हो:

  • शरीर के किसी भी हिस्से में लंबे समय से बनी हुई सूजन को अनदेखा करना समझदारी भरा काम नही है|
  • यदि शरीर में बार-बार पानी एकत्र होने की समस्या है, तो यह हृदय, लिवर या किडनी की किसी समस्या का संकेत हो सकता है|
  • शरीर के किसी भी अंग में एक सप्ताह से अधिक सूजन रहने पर डॉक्टर से संपर्क करें|
  • पुरुषों की तुलना में महिलाओं में सूजन की समस्या ज़्यादा देखने को मिलती है क्यूकि पुरुषों के मुक़ाबले महिलाओं में वसा का अनुपात ज़्यादा होता है और वसा कोशिकाएं अतिरिक्त पानी संचित कर लेती हैं|