जुखाम के दौरान आपने बंद नाक या भरी हुई नाक अक्सर महसूस की होगी हो सकता है आपको इसका कारण नहीं मालूम| दरअसल जुखाम के समय नाक के आसपास के टिशूज और रक्त नलिकाए में सूजन आ जाने से बलगम की वजह से नाक बंद हो जाती है। ऐसा ही कुछ सीने पर जमा बलगम की वजह से भी हो सकता है और इस वजह से आपको तकलीफ़ महसूस होने लगता है। आइए जानते हैं वह पांच असरदार तरीके जिनसे इस स्थिति से निपटा जा सकता है। फेफड़ो में जमे बलगम को हटाने के असरदार तरीके:

  • हाइड्रेशन- बंद नाक या बलगम के दौरान अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए इससे आपके निर्जल ट्रक को मास्टर आइस होने में मदद मिलेगी और बलगम ढीला होगा। इस दौरान अल्कोहल, कैफीन युक्त पेय पदार्थ की अधिक मात्रा को लेने से बचें क्योंकि यह आपकी बॉडी को डिहाइड्रेट करेंगे।
  • कसरत- कुछ कसरतें खासकर कि वॉक करना, जोगिंग करना, साइकिल चलाना आपके ब्लड को पंप करने में सहायक हैं। इन एक्सरसाइज से आपके फेफड़ों तक ऑक्सीजन पहुंचने से टिशूज में सूजन कम होती है| जिससे आपके सीने पर जमा हुआ बलगम ढीला होकर शरीर से बाहर आसानी से निकल जाता है और आपको राहत मिल जाती है|
  • एसेंशियल ऑयल- साइनस और ठंड जैसी बीमारियों में एसेंशियल ऑयल का प्रयोग असरकारी है क्योंकि यह एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल होता हैं इसलिए इन तेलों के प्रयोग से इस स्थिति में काफी आराम मिल जाता है।
  • ह्यूमिडिफायर- ह्यूमिडिफायर का प्रयोग बंद नाक, बंद गले को खोलने के लिए भाप लेने में किया जाता है इससे गाढ़ा बलगम पतला होता है और नाक और गले के टिशूज को माइश्चराइज होने के कारण आराम मिलता है।
  • भाप- भाप लेना एक असरदार उपचार है।भाप लेने से नाकिया फेफड़ों के टिशूज की सूजन कम होती है और जिस वजह से बलगम का जमाव भी कम होने लगता है। ये कुछ ऐसे घरेलू उपचार हैं जिनकी मदद से आप नाक या सीने में जमे बलगम से होने वाली समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। लेकिन किसी भी स्थिति में पहले डॉक्टर की सलाह लेना ज़रूरी है।