इन दिनों कम उम्र में ही लोग हार्ट अटैक का शिकार हो रहे हैं। यह एक ऐसी जानलेवा बीमारी है जिसमें कुछ सेकंड में ही व्यक्ति की मौत हो जाती है। ऐसे में जरूरी है हार्ट संबंधी लक्षणों के बारे में अच्छी तरह से जानना चाहिए हार्ट अटैक से पहले शरीर कई तरह से प्रतिक्रिया करता है। जिसे नज़रअंदाज नहीं करना चाहिए। अगर आपको भी इस तरह की परेशानी है तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

क्या है हार्ट अटैक?
हार्ट में ब्लड का फ्लो रुक जाने से हार्ट अटैक होता है। कोलेस्ट्रॉल, फैट जैसे कई चीज़े हार्ट के पाथ को ब्लॉक करने वाले कारक होते हैं। धमनियों में कोलेस्ट्रॉल और फैट के जम जाने की वजह से हार्ट में रक्त ठीक से फ्लो नहीं हो पाता है जो हार्ट अटैक का कारण बनता हैं।

हार्ट अटैक के लक्षण-

  • सीने में दबाव और जकड़न होना
  • सीने में दर्द हो या फिर बाहों में दर्द का अहसास होना जो आपकी गर्दन, जबड़े या पीठ तक फैल सकता है।
  • उल्टी, अपच या पेट दर्द
  • सांस संबंधी समस्या
  • पसीना आना
  • थकान
  • अचानक चक्कर आना
  • पैरों में सूजन
  • लक्षण नहीं होते हैं समान

ऐसे लोगों को हार्ट अटैक का जोखिम अधिक होता है|

  • बढ़ती उम्र की समस्या वाले लोगों में- पुरुषों में 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र में और महिलाओं को 55 वर्ष या उससे अधिक उम्र में दिल का दौरा पड़ने की संभावना अधिक होती है। हालांकि, इन दिनों गलत दिनचर्या की वजह से कम उम्र के लोगों में भी ऐसी परेशानियां देखने को मिल रही हैं।
  • तंबाकू का सेवन करने वाले लोगों में- धूम्रपान या फिर तंबाकू का सेवन करने वालों को भी इसका खतरा अधिक होता है। धूम्रपान और तंबाकू का सेवन करने से कैंसर की परेशानी भी होती है।
  • हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों में- हाई ब्लड प्रेशर की समस्या भी ह्रदय की धमनियों को नुकसान पहुंचा सकती हैं। इसके साथ ही मोटापा, हाई कोलेस्ट्रॉल जैसी बीमारियां भी हार्ट अटैक को बढ़ावा देती है।
  • अनुवांशिक कारणों से- कई पहलुओं में हार्ट की समस्या अनुवांशिक भी होती है। आपके परिवार में किसी को यह बीमारी रह चुकी है तो आपको हार्ट अटैक आने की संभावना बढ़ जाती हैं।
  • तनाव की वजह से- अत्यधिक तनाव लेने की वजह से हार्ट अटैक की संभावना बनी रहती है।