हमारे गलत खानपान की आदतें, खराब दिनचर्या और डाइट में हेल्दी फूड्स को शामिल न करने से कई स्वास्थ्य परेशानियाँ जन्म लेने लगती हैं। कई बार हम जो भी खाते हैं उसका सीधा असर शरीर के किसी न किसी हिस्से में होने लगता है। खासतौर पर हमारे खान पान की आदतें हमारी आंखों को भी प्रभावित करती हैं जिसका सीधा प्रभाव आंखों की रोशनी में पड़ता है।

हम आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए पौष्टिक आहार से भरपूर सामग्री लेते हैं। लेकिन कभी आपने सोचा है कि कई बार आप खाने में कुछ ऐसी चीजों को लेने लगते हैं जिनका दुष्प्रभाव आपकी आंखों और आंखों की रोशनी में भी पड़ने लगता है।

ब्रेड और पास्ता

डॉक्टर्स बताते हैं कि व्हॉइट ब्रेड और पास्ता में पाए जाने वाले साधारण कार्बोहाइड्रेट को उम्र से संबंधित आंखों की कमजोरी के साथ जोड़ा जा सकता है। जो वृद्ध लोगों के लिए दृष्टि हानि का एक प्रमुख कारण हो सकता है। ब्रेड में पाए जाने वाले तत्व आंखों को कमजोर बनाने के साथ सेहत पर भी प्रभावित करता है। आप इसके बजाय साबुत अनाज को अपने फुड्स में शामिल कर सकते हैं और जो आंखों को सेहतमंद बनाए रखने मे मदद करेगा|

टेबल सॉस और ड्रेसिंग
आंखों के स्वस्थ के लिए आपको अपने खाने में टेबल सॉस और ड्रेसिंग को हटा देना चाहिए। क्यूकी इनमें कैलोरी की मात्रा ज्यादा होती है और ये चीनी और वसा से भी भरे होते हैं। बहुत अधिक चीनी खाना सामान्य रूप से आपके शरीर के लिए नुकसानदेह होता है, जिसमें आपकी आंखें भी शामिल हैं। अपने भोजन में सॉस को शामिल करने की बजाय ताज़ी टमाटर या पुदीने की चटनी का उपयोग करके खाने का स्वाद बधा सकते है| क्यूकी किसी भी तरह के सॉस का ज्यादा इस्तेमाल आंखों की सेहत के लिए अच्छा नहीं है।

पैक्ड फूड्स
पहले से पैक किए गए खाद्य पदार्थ जैसे सूप, टमाटर सॉस और डिब्बाबंद सामान जैसी खाद्य सामग्रियों में अक्सर सोडियम की उच्च मात्रा पाई जाती है। इन खाद्य पदार्थों के कम सेवन से आपको उच्च रक्तचाप और आंखों से संबंधित समस्याओं की संभावना कम हो जाती है। पैक्ड फूड्स में पाए जाने वाले तत्व आंखों की सेहत के लिए हानिकारका होते हैं।

सॉफ्ट ड्रिंक्स
किसी भी प्रकार के सॉफ्ट ड्रिंक्स आपकी आंखों के लिए खराब हो सकते हैं। बहुत अधिक चीनी का सेवन करने से मोटापे का खतरा बढ़ने लगता है, जो बदले में टाइप 2 मधुमेह के बढ़ते जोखिम से जुड़ा हुआ है। मधुमेह आपकी दृष्टि के लिए बहुत सारे प्रभाव डाल सकता है। मधुमेह से आंखों की रोशनी कम होने का खतरा बढ़ जाता है। अगर आप अपना वजन नियंत्रित रखते हुए आंखों को सेहतमंद बनाए रखना चाहती हैं तो सॉफ्ट ड्रिंक्स का इस्तेमाल कम से कम करें। यदि आप चीनी से बचने की कोशिश कर रहे हैं, तो स्टीविया का सेवन अच्छा चुनाव हो सकता हैं। सेहतमंद आंखों के लिए दिन भर में ढेर सारा सादा पानी पिएं। यह आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभप्रद होने के साथ ही आपकी आंखों को हाइड्रेट भी करेगा। पीने में ताजे फल या हर्बल चाय लेने का प्रयास करें।

अल्कोहल
अल्कोहल एक ऐसा ड्रिंक है जिसका सेवन आपकी आंखों के लिए हानिकारक होता है। जैसे ही आप इसका सेवन शुरू करते हैं ये शरीर के कई अंगों को नुकसान पहुंचाने लगता है जिनमें से आंखें प्रमुख हैं। अल्कोहल का अधिक सेवन कम उम्र में मोतियाबिंद का कारण भी बन सकता है।